ई-कॉमर्स कंपनियां सेवाएं शुरू करने के लिए तैयार

ई-कॉमर्स कंपनियां सेवाएं शुरू करने के लिए तैयार

COVID-19 महामारी को फैलने से रोकने के लिए सोमवार 18 मई से 31 मई तक देशभर में लगे लॉकडाउन का चौथा चरण (लॉकडाउन 4.0) शुरू हो चुका है। लॉकडाउन का यह नया चरण नए रूपरंग और नियमो के साथ ज़ारी किया गया है। इस चरण में ई-कॉमर्स कंपनियों से खरीदारी करने वाले लोगों को छूट मिली है। अब-तक रेड ज़ोन में ऑनलाइन डिलीवरी बंद की गई थी, लेकिन अब ई-कॉमर्स कंपनियां 18 मई से देश के ज्यादा से ज्यादा इलाकों में अपनी पूरी सेवाएं फिर से शुरू कर सकती हैं।

राज्य सरकार अब केंद्र सरकार आदेशानुसार अपने आंकलन के आधार पर निर्णय लें सकती है की वह अपने राज्य में किन सेवाओं को शुरू करना चाहती हैं और किन सेवाओं को प्रतिबंधित करना चाहती हैं। तो ऐसे हालात में ई-कॉमर्स कंपनियों को राज्य सरकारों के दिशानिर्देशों का इंतजार करना पड़ेगा।

खबरों के अनुसार, 17 मई को लॉकडाउन का तीसरा चरण समाप्त हो गया है, वहीं 18 मई से शुरू हुए चौथे चरण में भारत सरकार ने कई राहतों को पेश किया है। गृह मंत्रालय ने 31 मई तक बढ़ाए गए लॉकडाउन में कुछ प्रतिबंधित गतिविधियों को छोड़कर अन्य सभी गतिविधियां खोलने की इजाज़त दे दी है। यहाँ तक की ,सरकार इस चरण में अब-तक के लॉकडाउन में प्रतिबंधित सभी गतिविधियों को अनुमति प्रदान कर दी है।

आप को बता दे, रेड ज़ोन इलाकों में ई-कॉमर्स वेबसाइट को गैर-जरूरी सामान की डिलीवरी करना प्रतिबंधित था, लेकिन ग्रीन और ऑरेंज ज़ोन इलाकों में कंपनियां गैर-जरूरी सामान की डिलीवरी कर सकती थीं। जिसमें यह माना जा रहा है कि ग्रीन और ऑरेंज ज़ोन के बाद अब रेड ज़ोन में भी ई-कॉमर्स कंपनियां अपनी सेवाएं शुरू कर पाएंगी। खैर इस मामले में अभी राज्य सरकार के दिशा-निर्देश आने बाकि हैं।

राज्य सरकार के दिशा-निर्देश आने से पहले ही ई-कॉमर्स कंपनियां अपनी सेवा शुरू करने के लिए पूरी तरह से तैयारियां कर रही हैं। इस मामले में Paytm Mall के वरिष्ठ उपाध्यक्ष श्रीनिवास मोठे का कहना है कि सरकार के इस कदम से कंपनी को रेड ज़ोन में पड़ने वाले अधिकतर बड़े शहरों के कई इलाकों में डिलीवरी करने में मदद मिलेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here