मंगल अभियान के लिए चीन अंतरिक्ष कार्यक्रम जुलाई में होगा लॉन्च, जानिए पूरी खबर

मंगल अभियान

चीन ने मंगल ग्रह मिशन के लिए अपनी महत्वाकांक्षी योजनाओं के लिए एक जुलाई तक लॉन्च का लक्ष्य रखा है। इस मिशन में मंगल ग्रह की सतह पर रिमोट-नियंत्रित रोबोट का इस्तेमाल किया जाएगा।

बीजिंग ने अपने अंतरिक्ष कार्यक्रम में अपने प्रतिद्वंद्वी अमेरिका की बराबरी के लिए और एक विश्व शक्ति के रूप में अपना स्थान प्राप्त करने के प्रयास में अरबों डॉलर खर्च किए है।

बताया जाता है की यह मंगल मिशन कई नई अंतरिक्ष योजनाओं में से एक है, जिसपर चीन बहोत समय से काम कर रहा है, जिसमें 2022 तक चाँद पर एक चीनी अंतरिक्ष स्टेशन बनाना और अंतरिक्ष यात्रियों को उतारना भी शामिल है।

यहाँ तक की बीजिंग भी इस साल कुछ समय के लिए मंगल मिशन की योजना बना रहा था, लेकिन चीन एयरोस्पेस साइंस एंड टेक्नोलॉजी कॉरपोरेशन (CASC) ने बताया है कि यह जुलाई के शुरुवाती दौर में आ सकता है।

सीएएससी ने रविवार को जारी किए हुए बयान में कहा, “हमारे लिए यह एक बहोत बड़ी योजना है और हमने इस के लिए जुलाई में लॉन्च का लक्ष्य रखा हैं।”

आपको बता दे की CASC चीन के अंतरिक्ष योजनाओंका का मुख्य विभाग है।

कहा जाता है की चीनी मिशन “तियानवेन” मंगल की कक्षा में चारों ओर एक जांच करेगा और फिर उसका विश्लेषण करने के लिए रोबोट रोवर को सतह पर भेज देगा।

इस यान को पृथ्वी और मंगल के बीच लगभग 55 मिलियन किलोमीटर (31 मिलियन मील) की दूरी तय करने में कई महीने लगेंगे, यह अंतर ग्रहों की कक्षाओं के कारण कभी-कभी बदल रहा है।

जनवरी 2019 में चाँदके अंधेरे पक्ष में सतह पर एक छोटा रोवर उतरनेवाला पहला राष्ट्र है।

अमेरिकाने पहले ही चार खोजकर्ता यानो को मंगल पर भेज दिया है, इस गर्मी के मौसम में पांचवां यान लॉन्च करने का उन का इरादा है, जो शायद फरवरी 2021 के आसपास तक हो जाना चाहिए।

खबरों के अनुसार, 15 जुलाई को संयुक्त अरब अमीरात ने जापान से इस लाल ग्रह पर पहली अरब जांच शुरू करने की योजना बनाई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here