सबसे दूर की सबसे पुरानी डिस्क गैलेक्सी, 12.3 बिलियन लाइट इयर्स दूर

सबसे पुरानी डिस्क गैलेक्सी

खगोल वैज्ञानिको ने अब तक की सबसे पुरानी और सबसे दूर की डिस्क गैलेक्सी की खोज की है, जो वर्तमान समझ को चुनौती दे रही है कि प्रारंभिक ब्रह्मांड में आकाशगंगाओं का निर्माण कैसे हुआ था। अब तक के, अध्ययन में पाया गया है कि तारों, गैसों और धूल से युक्त इन विशाल प्रणालियों ने अरबों वर्षों में धीरे-धीरे अपना आकार लिया है।

अब तक की जानकारी के मुताबिक़ ब्रह्मांड की शुरुआत में, एक आकाशगंगा एक “हिंसक” प्रक्रिया के माध्यम से विकसित हुई थी। हालाँकि, नई पाई जाने वाली “DLA0817g” आकाशगंगा (वोल्फ डिस्क) एक प्रारंभिक चरण में ही अच्छी तरह से डिस्क का आकार ले चुकी है।

ब्रह्मांड 13.8 बिलियन वर्ष पुराना है, उस समय आकाशगंगाओं ने अपना वर्तमान में दिख रहा आकार नहीं लिया था। यह सब कुछ धीमी और स्थिर गति से हुआ है। यह समझा जाता है कि आकाशगंगाओं के निर्माण में बहुत सी टक्कर और विलय शामिल थे, जिससे उन्हें एक अनियमित संरचना मिली। इन आकाशगंगाओं ने ब्रह्मांड के निर्माण के लगभग 6 बिलियन वर्ष बाद ही एक “अच्छी डिस्क” का आकार लेना शुरू कर दिया था।

खगोल वैज्ञानिको ने से पुष्टि की है कि जब ब्रह्मांड अपनी वर्तमान आयु का केवल दस प्रतिशत था, तब वोल्फ डिस्क आकाशगंगा ने एक घूर्णन डिस्क आकाशगंगा का आकार ले लिया हुआ था। अभी के जानकारी के से पता चलता है की वोल्फ डिस्क 272 किलोमीटर प्रति सेकंड की गति से घूम रही है।

यह नई खोज साइंटिस्ट और खगोल वैज्ञानिको को आकाशगंगा निर्माण सिमुलेशन को रीमेक के लिए मजबूर कर सकती है। जहाँ तक खोजों के माध्यम से, एक धारणा बन गई है कि इन आकाशगंगाओं का निर्माण कई छोटी आकाशगंगाओं के विलय से हुआ है।

शोधकर्ता इस प्रक्रिया को समझने की कोशिश कर रहे हैं कि आकाशगंगा प्रारंभिक अवस्था में इस तरह की आकृति हासिल करने के लिए किस माध्यम से गई थी।हालाँकि, अब यह माना जाता है कि ये “शुरुआती घूर्णन डिस्क आकाशगंगाएं” पहले की तरह दुर्लभ नहीं हैं और उनमें से कई ब्रह्मांड में बिखरी हुई हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here